Tag: #Shortstory #hindi #shailism

“इंतज़ार”

"आपके बेटे का कोई खत नहीं आया माँ जी ", डेस्क के पीछे बैठे एक आदमी ने कहा. यह सुन वो अपनी मोतीया बिंद वाली नज़रों को निचे किये, लकड़ी…
Read More