Tag: #hinid #kavita #poem #unity #love #peace #nowar

“एक”

क्या हम किताबों में लिखी बातों को जानते हैं ?, हाँ ?, तो फिर क्यों "हम सब एक" को नहीं मानते हैं ?, क्यों हम तीन और चार हो जाया…
Read More