ॐ त्र्यम्बकं यजामहे सुगन्धिं पुष्टिवर्धनम्। उर्वारुकमिव बन्धनान् मृत्योर्मुक्षीय मामृतात्॥
महाभारत का वह कुत्ता और पांडवों की अंतिम यात्रा
Illustrations from the Barddhaman edition of Mahabharata

महाभारत का वह कुत्ता और पांडवों की अंतिम यात्रा

महाभारत कथा श्री कृष्ण की मृत्यु और यदुवंशियों के नाश की जानकारी प्राप्त कर युधिष्ठिर को बहुत दुःख हुआ। पृथ्वी पर पांडवों का कर्तव्य भी पूरा हो चुका था।इसलिए महर्षि…

Continue Reading
Close Menu