ॐ त्र्यम्बकं यजामहे सुगन्धिं पुष्टिवर्धनम्। उर्वारुकमिव बन्धनान् मृत्योर्मुक्षीय मामृतात्॥
तीन लघु-कथा (Dedicated To Indian Soldiers And Their Families)

तीन लघु-कथा (Dedicated To Indian Soldiers And Their Families)

1.चुप्पी

“कल रात लैंडस्लाइडिंग होने की वजह से यँहा तक आने वाला एक मात्र रास्ता बंद हो चूका है। मौसम को देखते हुए तीन-चार दिनों में रास्ता खुल जाने की सम्भावना है। रास्ता खुलते ही पोस्टमैन आप तक आपकी चिट्टी या पार्सल पंहुचा पायेगा।” यह कहने के बाद अफसर अपना सर निचे किये अपने केबिन की तरफ लौट गया।
वँहा मौजूद सारे सिपाही एक चुप्पी लिए अपनी-अपनी ड्यूटी करने चल दिए।

2.इंतज़ार राम का 

नन्हे राम ने चौखट पर दिया रखती हुई अपनी माँ से पूछा ”माँ दिवाली क्यों मनाते हैं ?”
माँ ने मुस्कुराते हुए कहा ”आज के दिन राम अपने घर लौटे थे।”
नन्हा राम थोड़ी देर सोचने के बाद बोला ”पर मैं तो कभी घर छोड़ कर गया ही नहीं।” और उसकी बात सुनते ही वो ज़ोरों से हँसने लगी।

इस बात को 15 साल बीत चुके है। अब वो बूढ़ी हो चुकी है।आँखों की रौशनी अब कम हो चुकी है।आज भी दिवाली है।और वो आज भी चौखट पर दीया रख रही है। पर इस बार अयोध्या के राम के लिए नहीं बल्कि अपने नन्हे राम के लिए जो सरहद पर बन्दुक थामे दीवार जैसा खड़ा है। ताकि सारा देश सुकून से अपने परिवार के साथ ख़ुशियों के दीप जला सकें। और वो माँ पिछले दो बार की तरह इस बार भी अपने नन्हें राम के घर आने का इंतज़ार कर रही है।

3. ख़त

“आपके बेटे का कोई ख़त नहीं आया माँ जी “डेस्क के पीछे बैठे एक आदमी ने कहा।”
यह सुन उसकी मोतिया बिंद वाली नज़र झुक जाती है।और वह लकड़ी के एक डण्डे का सहारा लिए कमज़ोर कदमों से बहार की तरफ लौट जाती है।
पास ही बैठा दूसरा आदमी “कौन है यह बुढ़िया ?, रोज यँहा चली आती है। “
पहला आदमी ” रोशन ठाकुर की माँ है।”
दूसरा आदमी “पर उसे शहिद हुए तो दस साल हो चुके हैं।”

By Shailism 

 

This Post Has 2 Comments

  1. is lost
    Examination
    Have been
    I upset
    I am shocked
    I upset
    I am shocked
    I upset
    That patience
    That endurance
    And wait
    Has been made
    Hard like
    Has been made
    Hard like
    That patience
    That endurance
    And wait
    Has been made
    Hard like
    Has been made
    Hard like
    is lost
    Examination
    Have been
    I upset
    I am shocked
    I upset
    I am shocked
    I upset
    is lost
    Examination
    Have been
    I upset
    I am shocked
    I upset
    I am shocked
    I upset

    When
    where
    What a sight
    Touching the heart
    Raises questions in the heart
    That i
    In case of heart
    Very weak
    Or
    Take the right steps
    I know
    I question this
    Only to me
    Not doing
    I question this
    Also you
    I am doing
    sweetheart
    Is this our step
    It is happening right
    sweetheart
    My passion nowadays
    Is less visible
    I probably on myself
    Not sure
    Or maybe myself
    Not dependent
    This look around
    Has defeated me now
    Now i
    Can not believe
    sweetheart
    Now you only look back
    Maybe i
    Faith will return
    sweetheart
    Come back now
    sweetheart

    is lost
    Examination
    Have been
    I upset
    I am shocked
    I upset
    I am shocked
    I upset
    That patience
    That endurance
    And wait
    Has been made
    Hard like
    Has been made
    Hard like
    That patience
    That endurance
    And wait
    Has been made
    Hard like
    Has been made
    Hard like
    is lost
    Examination
    Have been
    I upset
    I am shocked
    I upset
    I am shocked
    I upset
    is lost
    Examination
    Have been
    I upset
    I am shocked
    I upset
    I am shocked
    I upset

    Translate Hindi

    खो गया है
    इम्तिहान
    हो गया हूँ
    मैं परेशान
    मैं हैरान
    मैं परेशान
    मैं हैरान
    मैं परेशान
    वो सब्र
    वो धीरज
    और इंतजार
    बन गया
    कठिन समान
    बन गया
    कठिन समान
    वो सब्र
    वो धीरज
    और इंतजार
    बन गया
    कठिन समान
    बन गया
    कठिन समान
    खो गया है
    इम्तिहान
    हो गया हूँ
    मैं परेशान
    मैं हैरान
    मैं परेशान
    मैं हैरान
    मैं परेशान
    खो गया है
    इम्तिहान
    हो गया हूँ
    मैं परेशान
    मैं हैरान
    मैं परेशान
    मैं हैरान
    मैं परेशान

    कब
    कहाँ
    क्या नजारा
    दिल को छू कर
    दिल में प्रश्न खड़ा कर देता है
    की मैं
    दिल की मामले में
    बहुत कमजोर हूँ
    या
    सही कदम उठाना भी
    जानता हूँ
    मैं यह प्रश्न
    सिर्फ मेरे को ही
    नहीं कर रहा हूँ
    मैं यह प्रश्न
    तुम्हें भी
    कर रहा हूँ
    जानेमन
    क्या हमारी यह कदम
    सही ही हो रहा है
    जानेमन
    मेरा जोश आजकल
    कम दिखने लगा है
    मैं शायद खुद पर
    यकीन नहीं ऱख पा रहा हूँ और
    या शायद खुद पर
    निर्भर ही और नहीं रहा हूँ
    चारों ओर की यह नजारा
    मुझे परास्त कर दिया है अब
    अब और मैं
    विस्वास नहीं रख पा रहा हूँ
    जानेमन
    अब तुम्हें वापस देखने पर ही
    मुझे शायद
    आस्था फिरेगी
    जानेमन
    अब तो लौट आओ
    जानेमन

    खो गया है
    इम्तिहान
    हो गया हूँ
    मैं परेशान
    मैं हैरान
    मैं परेशान
    मैं हैरान
    मैं परेशान
    वो सब्र
    वो धीरज
    और इंतजार
    बन गया
    कठिन समान
    बन गया
    कठिन समान
    वो सब्र
    वो धीरज
    और इंतजार
    बन गया
    कठिन समान
    बन गया
    कठिन समान
    खो गया है
    इम्तिहान
    हो गया हूँ
    मैं परेशान
    मैं हैरान
    मैं परेशान
    मैं हैरान
    मैं परेशान
    खो गया है
    इम्तिहान
    हो गया हूँ
    मैं परेशान
    मैं हैरान
    मैं परेशान
    मैं हैरान
    मैं परेशान

    1. Well written.

Leave a Reply

Close Menu
%d bloggers like this: